Attack on temples in Bangladesh बांग्लादेश में मंदिरों पर हुआ हमला

बांग्लादेश में हिंदू अल्पसंख्यकों पर क्यों हुए हमले ( Why were Hindu minorities attacked in Bangladesh )

Attack on temples in Bangladesh : 13 अक्टूबर से बांग्लादेश में हिंदू अल्पसंख्यकों पर काफी अत्याचार हो रहे हैं। इस घटना में 10 से ज्यादा हिंदुओं की मौत हो गई है और मंदिरों को ही काफी नुकसान पहुंचाया गया है। इन सब घटना के पीछे ईशनिंदा की अफवाह को जिम्मेदार माना गया है। 14 अक्टूबर के दिन एक समाचार के माध्यम से यह पता चला है कि बांग्लादेश में दुर्गा पूजा के समय हिंदू मंदिर पर हमला करके कई लोगों को जान से मार दिया गया है।

Attack on temples in Bangladesh
Attack on temples in Bangladesh

पश्चिम बंगाल और बांग्लादेश में जो हिंदू रहते हैं वह दुर्गा पूजा को बड़े धूमधाम से मनाते हैं। इस घटना के पीछे का कारण धार्मिक हिंसा को बताया गया है जिसके चलते भारत के प्रधानमंत्री ने बांग्लादेश के प्रधानमंत्री से बात की है। बांग्लादेश की प्रधानमंत्री ने यह आश्वासन दिया है कि इस घटना को वह कंट्रोल में कर ली है।

बांग्लादेश में हिंदुओं की संख्या कितनी है ( How many Hindus are there in Bangladesh )

बांग्लादेश में हिंदुओं की संख्या मुस्लिमों के बाद दूसरे नंबर पर है । बांग्लादेश की जो कुल जनसंख्या है उसमें 8.5% लोग हिंदू हैं। अगर इन आंकड़ों को अंको में देखा जाए तो बांग्लादेश में लगभग सवा करोड़ लोग हिंदू हैं। पूरे दुनिया में जितने हिंदू रहते हैं उनमें भारत का नाम पहले नंबर पर, दूसरे नंबर पर नेपाल और तीसरे नंबर पर बांग्लादेश का नाम आता है।

दुकानों के ऊपर किया गया हमला ( attack on shops )

बांग्लादेश के मुस्लिम लोग हिंदुओं के दुकानों पर यह हमला कर रहे हैं। किसी ने वहां पर कुरान के बारे में गलत अफवाह फैला दी थी। जिस अफवाह के बाद वहा पर दुर्गा पूजा के पंडालों को तोड़ दिया गया और वहां पर उपस्थित पुजारियों को भी पीटा गया है। 1990 में जब बाबरी मस्जिद को गिराया गया था उस समय बांग्लादेश में अल्पसंख्यकों पर धार्मिक हमले हुई थी।

बांग्लादेश ने अपने विदेश मंत्री को भारत में भेजने से मना क्यों किया था?

बांग्लादेश ने भारत में अपना विदेश मंत्री भेजने से इसलिए रोक दिया था क्योंकि भारत के गृह मंत्री ने संसद में यह बयान दे दिया था कि बांग्लादेश,अफगानिस्तान और पाकिस्तान से जितने भी हिंदू अल्पसंख्यक भारत आएंगे उनको हम नागरिकता देंगे और वहां से आए हुए मुस्लिमों को नागरिकता नहीं देंगे। बांग्लादेश अफगानिस्तान और पाकिस्तान ने इसी बात को लेकर चिंता जताये थे और विशेषकर बांग्लादेश ने यह कहा था कि भारत ऐसा क्यों समझता हैं कि हमारे यहां हिंदू अल्पसंख्यकों पर अत्याचार हो रहे हैं।

भारत और बांग्लादेश के बीच संबंध कैसा है? ( How is the relation between India and Bangladesh? )

भारत और बांग्लादेश दोनों एक दूसरे के मित्र राष्ट्र हैं क्योंकि भारत ने जब बांग्लादेश को पूर्वी पाकिस्तान से बांग्लादेश बनाया था उस समय 1971 में भारत ने मुक्ति सेना भेजी थी और मुक्ति सेना के माध्यम से यहां पर सरकार बनवाई थी। बांग्लादेश की जो वर्तमान प्रधानमंत्री शेख हसीना है उन्होंने कहा है कि हम भारत के द्वारा किए गए कार्यों को हमेशा याद रखते है ।

जो दंगे फैलाने वाले लोग हैं उनको किसी धर्म से जोड़कर न देखा जाए। इन्होंने वहां पर शांति बनाए रखने के लिए अपनी सेना की कई टुकड़िया भी तैनात कर दी है। भारत के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने शेख हसीना के इस बयान को काफी सराहा है।

शेख हसीना भारत के खिलाफ कैसी सोच रखती हैं?

शेख हसीना हमेशा भारत के समर्थन में रहती हैं और जो वर्तमान में विपक्ष हैं वह भारत के खिलाफ रहता है। विपक्ष में बैठे लोगों का हमेशा यह सोच होता है कि भारत और बांग्लादेश के रिश्ते खराब किए जाएं। इसलिए अफवाहों के माध्यम से विपक्ष ऐसे धार्मिक हमले कराती है।

बांग्लादेश में पहले अल्पसंख्यकों की संख्या कितनी थी?

जब भारत और पाकिस्तान के बीच बंटवारा हुआ था तो उस समय पाकिस्तान दो जगहों पर था पश्चिमी पाकिस्तान और पूर्वी पाकिस्तान। उस समय इस पूर्वी पाकिस्तान में 22% लोग हिंदू थे। 1971 में जब पूर्वी पाकिस्तान बांग्लादेश बना था तो उस समय कुल आबादी का 13% लोग हिंदू थे।

लेकिन आज के समय में यह घटकर लगभग 9% रह गई है। वर्ष 2016 में बांग्लादेश के एक प्रोफेसर ने यह दावा किया था कि 30 वर्षों के भीतर बांग्लादेश में हिंदुओं की संख्या 0% हो जाएगी।

ईशनिंदा कानून क्या है ?

जब किसी देश में अपने यहां धार्मिक आस्था रखने वाले किसी चीज को किसी दूसरे समुदाय द्वारा नुकसान या क्षति पहुंचाया जाता है या उनका अपमान किया जाता है तो यह दंडनीय अपराध माना जाता है। ऐसा किसी व्यक्ति द्वारा किसी धार्मिक जगह पर कोई अपशब्द लिखकर या बोलकर किया जाता है तो इसके लिए उस देश में एक कानून बनाया गया है जिसमें यह कहा गया है कि यदि कोई व्यक्ति ऐसा करता है तो उसे किस तरह और कितनी सजा दी जाएगी।

उम्मीद करते है कि आप सभी को यह लेख Attack on temples in Bangladesh पसंद आया होगा यदि पसंद आया है अपने दोस्तों के साथ सेयर करें ।

United Nations Human Rights Council संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद क्या है?

E-Voting क्या है? ( Electronic Voting Machine )

दल बदल कानून क्या है What is Anti Defection Law

अपसौर और उपसौर क्या है What is Apsour and Upsaur

RBI Monetary Policy भारतीय रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति क्या है?

सरकार ने क्यों बेचे एयर इंडिया Why did the government Sell Air India

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top