Debit Card and Credit Card क्या होता है ? Master Card ,VISA Card और Rupay Card मे क्या अन्तर होता है?

Debit Card and Credit Card : आज हम आपको प्लास्टिक मनी के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसमें एटीएम आता है। सामान्यतः एटीएम को क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड दो भागों में बांटते हैं। एटीएम के ऊपर Master Card ,VISA Card या Rupay Card लिखा होता है। इन सभी कार्ड में कौन सा कार्ड सबसे अच्छा होता है और भारत सरकार ने मास्टर कार्ड को नए कार्ड जारी करने पर क्यों रोक लगा दिया है।

What is Debit Card and Credit Card
Debit Card and Credit Card

ATM कार्ड क्या है? ( What is ATM Card? )

ATM का पूरा नाम ऑटोमेटिक ट्रेलर मशीन होता है। इसकी खोज 1967 में इंग्लैंड में हुई। इसका खोज करने वाले वैज्ञानिक का नाम Jon Shepherd Barron था। इनका जन्म 23 जून 1925 को भारत के मेघालय राज्य के शिलांग में हुआ था। देखा जाए तो एटीएम के खोजकर्ता मूल रूप से भारतीय थे। आजकल एटीएम कार्ड का उपयोग काफी बढ़ गया है। एटीएम कार्ड मे दो तरह के कार्ड देखने को मिलता है।

डेबिट कार्ड क्या है ? ( What is Debit Card )

डेबिट कार्ड वह कार्ड होता है जिसके माध्यम से बैंक में जमा किए पैसे को निकाल सकते है। हम सभी के अकाउंट में पैसा होता है अगर अकाउंट में पैसा खत्म हो जाए तो इस डेबिट कार्ड से हम कोई भी पैसा एटीएम से नहीं निकाल सकते हैं। एटीएम कार्ड से हम सप्ताह के सातों दिन और 24 घंटे पैसे निकाल सकते हैं।जब यह डेबिट कार्ड नहीं होता था तो हमें पैसे निकालने के लिए अपने बैंक में जाना पड़ता था। जहां पर निकासी पर्ची या चेक के माध्यम से हम पैसे निकालते थे।

चेक या निकासी पर्ची से पैसे निकालना सुरक्षित माना जाता है लेकिन इसकी एक खराबी यह है कि इससे पैसे तभी निकाल सकते हैं जब बैंक खुले रहते हैं। डेबिट कार्ड काफी सुरक्षित माना जाता है क्रेडिट कार्ड की तुलना में।

डेबिट कार्ड कितना सुरक्षित है?

डेबिट कार्ड सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए कई सारी सिक्योरिटी दी गई होती है जैसे इसमें 16 अंकों का कार्ड नंबर दिया गया होता है। एक्सपायरी डेट दी गई होती है।और कार्ड के पीछे Card Verification Value (CVV) नंबर दिया गया होता है।

यह सिक्योरिटी लेवल उतना मजबूत नहीं होता है क्योंकि अगर आपका एटीएम कार्ड कही गिर गया तो जो व्यक्ति यह कार्ड पाएगा उसको यह सारी चीजें पता चल जाती है। इसी को ध्यान में रखते हुए एटीएम कार्ड के साथ एक पिन नंबर दिया जाता है जिससे अगर कोई व्यक्ति एटीएम कार्ड पाता है तो उसका इस्तेमाल नहीं कर सकता क्योंकि एटीएम की पिन के बारे में उसको कोई भी जानकारी नहीं होती है।

अगर कोई व्यक्ति दूसरे का एटीएम कार्ड को लेकर उसका पिन चेंज करना चाहे तो वह ऐसा नहीं कर सकता है क्योंकि पिन चेंज करने के लिए जो मोबाइल नंबर बैंक में रजिस्टर्ड है उसी नंबर पर एक ओटीपी जाता है बिना ओटीपी प्राप्त किए वह ऐसा नहीं कर सकता है।

डेबिट कार्ड के माध्यम से कोई भी व्यक्ति उतना ही सामान खरीद सकता है जितना कि उसके अकाउंट में पैसा है उससे ज्यादा की खरीदारी वह चाहकर भी नहीं कर सकता है।

क्रेडिट कार्ड क्या है ? ( What is Credit Card )

पहले के जमाने में यदि हमको लोन लेना होता था तो हम अपने किसी रिश्तेदार या कोई बड़ा साहूकार के पास जाते थे जो हमें लोन काफी ज्यादा ब्याज रेट पर देता था। जबकि बैंक हमको लोन काफी सस्ता ब्याज रेट पर मील जाता है। बैंक से लोन लेने के लिए काफी लंबा प्रोसेस होता है ।

अगर किसी व्यक्ति को 50 हजार रूपये लोन लेना है तो उसे 1 हफ्ते से ज्यादा समय बैंक के चक्कर काटने में ही चला जाएगा। बैंक लोन देने के लिए सिक्योरिटी के रूप में कैस्टूमर से जमीन अथवा गहना गिरवी रखवाता है। इन सभी बातों का ध्यान रखते हुए एक ऐसी कार्ड बनाई गई जिसमें यदि किसी को लोन की आवश्यकता है तो उसे तुरंत उस कार्ड के माध्यम से लोन मिल जाए।

जिस कार्ड के माध्यम से हमें तुरंत लोन मिल जाए उस कार्ड को क्रेडिट कार्ड कहते हैं। इसमें कस्टमर का पैसा नहीं होता है इस कार्ड के माध्यम से लिया गया लोन बैंक को लौटाना पड़ता है। यह क्रेडिट कार्ड बैंक सबको नहीं देता है। बैंक को जिस खाताधारक पर भरोसा होता है उसी को क्रेडिट कार्ड देता है।

क्रेडिट कार्ड की लिमिट कितनी है? ( What is the credit card limit )

इस क्रेडिट कार्ड से व्यक्ति जब चाहे तब पैसे निकाल सकता है या शॉपिंग कर सकता है। शुरुआत में इसकी लिमिट लगभग 25 हजार रूपए ही दी जाती है जिसे बाद में बढ़ाकर 3 लाख रूपए तक कर दी जाती है। बैंक इन पैसों पर 30 से 40 दिनों तक कोई ब्याज नहीं लेती है।

क्रेडिट कार्ड में क्या-क्या कमियां है? ( Credit card drawbacks )

👉 बैंक यह कार्ड जानबूझकर देती है कि इससे लोगों के अधिक से अधिक खर्चे को बढ़ाया जा सके।
👉 क्रेडिट कार्ड से कैश निकालने पर जुर्माना लगाया जाता है।
👉 बैंक द्वारा दिए गए 30 से 40 दिन के लीमिट के बाद यदि आप लोन भरते हैं तो बैंक द्वारा फाइन लगा दिया जाता है।
👉 क्रेडिट कार्ड में शॉपिंग करते समय पिन की आवश्यकता नहीं होती है ।
👉 अगर कोई व्यक्ति आपका क्रेडिट कार्ड पाता है तो वह उस कार्ड के मदद से शॉपिंग कर सकता है।
👉 डेबिट कार्ड की तुलना में क्रेडिट कार्ड को बंद कराना आसान होता है।

क्रेडिट कार्ड में क्या अच्छाइयां है? ( Benefits of credit card )

👉 क्रेडिट कार्ड में हमें कुछ ना कुछ कैशबैक मिल जाता है।
👉 डेबिट कार्ड की तुलना में क्रेडिट कार्ड पर ज्यादा ऑफर मिलते है।
👉 इसमें कुछ रिवार्ड पॉइंट्स मिलते हैं, जिसमें यह ऑफर आते हैं कि यदि आपके पास क्रेडिट कार्ड के 100 पॉइंट्स है तो आप यह समान खरीद के ले जा सकते हैं।
👉 इसमें कभी-कभी बोनस पॉइंट्स भी मिल जाते हैं।
👉 क्रेडिट कार्ड से कोई सामान खरीदने पर छूट भी मिल जाता है।
👉 इसके अलावा कुछ ऐसी चीजें होती हैं जिसका पेमेंट आप सिर्फ और सिर्फ क्रेडिट कार्ड के माध्यम से ही कर सकते हैं।
👉 क्रेडिट कार्ड का प्रचलन शहरों में ज्यादा होता है और गांव देहात में इसका प्रचलन बहुत कम है।

कार्ड नेटवर्क क्या होता है? ( Card Network )

Card Network : एटीएम कार्ड शुरुआती समय में जिस बैंक का एटीएम कार्ड होता था वह उसी बैंक में काम करता था। लेकिन अब ऐसा नहीं है आप किसी भी बैंक के एटीएम को किसी दूसरे बैंक के एटीएम से निकाल सकते हैं। किसी भी बैंक के कस्टमर की निजी जानकारी दो लोगों के पास होती है पहला बैंक के पास और दूसरा कार्ड नेटवर्क के पास, जिसको बैंक यह जानकारी दे रखा है।

इस कार्ड नेटवर्क के माध्यम से एक बैंक दूसरे बैंक के कार्ड को पैसे निकालने की जानकारी देता है । कोई भी बैंक किसी दूसरे बैंक के कस्टमर को निजी जानकारी नहीं देता है। किसी भी बैंक के एटीएम से किसी दूसरे बैंक के एटीएम से पैसा इसी कार्ड नेटवर्क के माध्यम से निकाला जाता है।

यह कार्ड इन सुविधाओं के नाम पर कस्टमर से डायरेक्ट पैसा नहीं लेता है वह बैंक से इन सेवाओं के बदले, सेवा शुल्क लेता है और बैंक कस्टमर से इस सेवा शुल्क को लेकर कार्ड नेटवर्क को दे देती हैं।

Visa Card क्या है ? ( What is Visa Card )

Visa Card : यह विजा कार्ड US की कंपनी है। भारत में यह लगभग 50% मार्केट कवर की हुई है। यह वीजा कार्ड अपने ग्राहकों को भारत और विदेशों में पैसा निकालने की सुविधा देता है।

Master Card क्या है? ( What is Master Card )

Master Card : मास्टर कार्ड US की कंपनी है। यह कार्ड अपने ग्राहकों को सुविधा इंडिया में भी देता है और विदेशों में भी इस कार्ड के माध्यम से पैसे निकालने की सुविधा देता हैं। यह भारत में 30% मार्केट पर कब्जा की हुई है।

Rupay Card क्या है ? What is Rupay Card

Rupay Card: रुपए कार्ड भारत द्वारा बनाया गया कार्ड है। यह रुपए कार्ड केवल भारत में ही पैसे निकालने के लिए सुविधाएं देता है। इस कार्ड के माध्यम से केवल भारत में ही पैसे निकाल सकते हैं। यह रुपए कार्ड एक प्लेटिनम कार्ड जारी करता है जो भारत के साथ-साथ विदेशों में भी पैसे निकालने की सुविधा देता है।

भारत सरकार ने मास्टर कार्ड को, नया कार्ड जारी करने पर क्यों लगा दिया है?

इन विदेशी कंपनियों में एक खराबी यह है कि यह अपने ग्राहकों की पूरी जानकारी विदेशों में रखती है लेकिन भारत सरकार ने अब उन कंपनियों को कहा है कि अगर आपको हमारे यहां मास्टर कार्ड या वीजा कार्ड चलाना है तो इसका डाटा भारत में ही रखना होगा। जिससे भारत की कंपनी अपने मन मुताबिक ग्राहको को चुन सकें।

अगर किसी ग्राहक की निजी जानकारी अमेरिका में बैठे किसी कंपनी गूगल फ़ेसबुक को पता चल जाता है कि किस व्यक्ति के अकाउंट में कितना पैसा है तो वह कंपनी उस ग्राहक को लुभावने विज्ञापन दिखाती है और उससे कोई सामान खरीदने के लिए प्रेरित करती है। जिससे भारतीय कंपनियों को काफी नुकसान होता है और अपने देश का पैसा विदेशों में चला जाता है। यह विदेशी कंपनियां भारत से पैसे कमा कर अपने देश में ले जाती है।

सूर्य ग्रहण ( solar eclipse ) और चंद्र ग्रहण ( lunar eclipse ) क्यों लगता है? 

United Nations Human Rights Council संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद क्या है?

Global Minimum Tax Bill ग्लोबल मिनिमम टैक्स बिल क्या है?

What is UPI Pin in Hindi UPI पिन क्या होता है पूरी जानकारी हिंदी में

Blogger Kaise Bane ब्लॉगर कैसे बने पुरी जानकारी हिंदी में ? How To Become a Blogger

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top