What is Virat Kohli’s gay controversy? विराट कोहली का समलैंगिकों से जुड़ा हुआ विवाद क्या है?

What is Virat Kohli’s gay controversy : विराट कोहली जो भारतीय क्रिकेट के बेहतरीन खिलाड़ी हैं, जिन्हें हम सभी जानते हैं। जिनका रेस्टोरेंट आजकल चर्चा का विषय बना हुआ है क्योंकि वहां पर समलैंगिकता से जुड़ा हुआ एक मामला निकल कर सामने आया है।

What is Virat Kohli's gay controversy
What is Virat Kohli’s gay controversy

LGBTQ के मेहमानों को विराट कोहली के रेस्टोरेंट में नो एंट्री !!

विराट कोहली का एक रेस्टोरेंट चलता है जिसका नाम ONE 8 Commune है। जिसका दिल्ली, पुणे और कोलकाता में अपना ब्रांच है जहां पर जाकर लोग भोजन करते हैं। उन रेस्टोरेंट में से एक रेस्टोरेंट में Social Activist ने फोन किया, Yes We Exist नाम से एक Instagram Handle है,

जिसके माध्यम से यह बात सामने आई है कि विराट कोहली अपने रेस्टोरेंट में LGBTQ Community में Homeo Sexual Boys की प्रवेश की अनुमति नही देते है। विराट कोहली दिल्ली पुणे और कोलकाता में जो ONE 8 Commune रेस्टोरेंट्स चलाते हैं उनमें जोमैटो की लिस्टिंग कहती हैं कि उनकी स्टैग के लिए कोई एंट्री नहीं है।

आजकल जितने भी बड़े शहर हैं उनमें एक ट्रेंड हो गया है कि बार और रेस्टोरेंट में स्टैग एंट्री बैन है अर्थात वहां पर आप अकेले नहीं जा सकते हैं। वहां जाने के लिए आपको जोड़ों (couples) में ही जाना होता है।

LGBTQ के बारे में Zomato ने क्या लिखा है?

Zomato ने पुणे वाला रेस्टोरेंट है, वहां पर LGBTQ के बारे मे लिखा हुआ है कि  केवल सिसजेंडर, विशमलैंगिक जोड़ों में ही प्रवेश कर सकते है। वहां पर गे जोड़े या गे पुरुष के प्रवेश बैन है। ऐसा भेदभाव क्यों किया जा रहा है जबकि भारत में पहले ही IPC की धारा 377 को सुप्रीम कोर्ट के द्वारा हटा दिया गया है। सुप्रीम कोर्ट ने LGBTQ को अपने फैसले में राहत दे दी है।

Yes We Exist के माध्यम से यह घटना की जानकारी आने के बाद पुणे वाला रेस्टोरेंट ने अपनी सफाई भी दी है कि हमारे यहां पर ऐसा कुछ नहीं होता है। हमने मना सिर्फ इसलिए किया था कि वहां पर जो और लोग आते हैं वह अपने आप को अनकनफोर्टेबल महसूस न करें। अगर हमारे यहां पर इस प्रकार की कोई घटना हुई है तो हम उसे सही कर लेंगे।

LGBTQ क्या होता है ? LGBTQ Full Name

LGBTQ Full Name – Lesbian Gay Bisexual Transgender Queer यह 5 शब्दों का संयुक्त रूप है जिसे एक साथ कंबाइंड करके बोला जाता है। जिनका पांचों का अलग-अलग मतलब होता है।

Lesbian: जब हम Lesbian शब्द का मतलब निकालते हैं तो पाते है की जब एक महिला दूसरी महिला या एक लड़की दूसरी लड़की के साथ में अपने आपको इमोशनली, फिजिकली और सैक्सुवली अट्रैक्टेड फिल करती है जो कि सेम जेंडर का है तो इसे Lesbian कहा जाता है।

Gay: पुरुषों के केस में जब Gay शब्द का उपयोग किया जाता है जिसमे जब एक पुरुष दूसरे पुरुष के साथ इमोशनली, फिजिकली और सैक्सुवली अट्रैक्टेड फिल करता है तो उसे Gay शब्द से परिभाषित किया जाता है।

Bisexual: Bisexual का मतलब यह है कि यदि एक पुरुष जिसे पुरुषो मे आकर्षण और महिलाओं में भी आकर्षण है उसे Bisexual कहा जाता है।

Transgender: Transgender का मतलब एक ऐसे व्यक्ति से है जो सांस्कृतिक रूप से सामाजिक परिवेश में पैदा पुरुष के रूप में या महिला के रूप में हुआ लेकिन उसका जननांगीक ओरिएंटेशन डिफरेंस है उसे Transgender कहा जाता है।

Queer: Queer यह एक ऐसी स्थिति है जिसमें व्यक्ति को खुद नहीं पता होता है कि वह क्यूरियस है। यह ऐसे छोटे लोगों की उम्र के लिए है या जिनकी सोच विकसित नहीं हो पाई है जो किसी विषमलैंगिक चीज में इंटरेस्ट नहीं लेते हैं उसे Queer कहा जाता है।

Intersex: Intersex में एक ऐसा व्यक्ति होता है जिसकी क्रोमोजोम में परिवर्तन के कारण उसका सेक्सुअल ओरिएंटेशन बिगड़ गया है उसे Intersex कहा जाता है।

सबको है सामान अधिकार !

भारत में आर्टिकल 15 में यह कहा गया है कि आप किसी भी व्यक्ति के साथ उसकी जाति, धर्म, जन्म और लैंगिक ओरिएंटेशन के आधार पर भेदभाव नहीं कर सकते हैं। जबकि विराट कोहली के पुणे वाले ONE 8 Commune रेस्टोरेंट्स में उनके साथ इसी आधार पर भेदभाव किया गया।

खत्म कर दी गई है LGBTQ मे सजा का पावधान !

आर्टिकल 15 को आधार मानते हुए धारा 377 के तहत जो कि ब्रिटिश काल से चली आ रही है, जिसमें सेम जेंडर के व्यक्ति को एक साथ अट्रैक्शन को पनिशमेंट माना गया था जिसमें 10 साल की सजा का प्रावधान था। उसे अब हटा दिया गया है। भारत में वर्ष 2018 में सुप्रीम कोर्ट के द्वारा LGBTQ के समुदाय को राहत दी गई और इसमें जो सजा का प्रावधान था वह रद्द कर दिया गया।

अगर वर्तमान परिस्थितियों में देखा जाए तो भारत में इन्हें किसी भी प्रकार से कोई पाबंदी नहीं है। साथ ही इन्हें आर्टिकल 21 के तहत जीने का बराबर अधिकार दिया गया है। ऐसी स्थिति में विराट कोहली के रेस्टोरेंट में इनकी पाबंदी आर्टिकल 15 और आर्टिकल 21 का उल्लंघन है। जिसके चलते विराट कोहली पर इस तरह की भेदभाव का आरोप लग रहा है।

United Nation Security Council मे क्यों नहीं मिल रहा है भारत को स्थायी सीट और Veto पावर ?

Gulshan Kumar murder case! गुलशन कुमार मर्डर केस!

ऑपरेशन ब्लू स्टार क्या है What is Operation Bluestar

What is Digital Marketing in Hindi डिजिटल मार्केटिंग क्या होता है ?

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top